• पपीता रेडलेडी 786

विषेषताएं- 1. पपीते की एक किस्म विकसित की गई है। जिसे रेड लेडी 786 नाम दिया गया है। 2. यह एक संकर किस्म है। 3. किस्म की खासीयत यह है कि नर व मादा दोनांे फूल ही पर होते है। 4. रेड लेडी 786 में हर पौधे से मिलने कि गांरटी होती है। 5. यह किसम सिर्फ 10 महिने मे तैयार हा जाती है। 6. इस किस्म के फलों की भंडारण क्षमता ज्यादा होती है।

लगाने की विधि- 1. खेत को अच्छी तरह जांत कर समतल बनाना चहिएं। 2. पपीते के पौधे जुन व जुलाई मंे लगाने चाहिए। 3. जहां सिचाई का समुशित प्रबंध हो यहां सितम्बर से अक्टूबर तथा फरवरी से मार्च तक पपीते के पौधे लगाये जा सकते है।

सावधानिया- 1.जमीन उपजाऊ हो जिनमें जल निकाष अच्छा हो तो पपीते की खेती उतम होती है। 2. जिस खेत में पानी भरा हो उस खेत में पपीता कदापि नहीं लगाना चाहिए। 3. अधिक गहरी मिट्टी में भी पपीतें की खेती नहीं करनी चाहिए। 4. पपीते की अच्छी फसल के लिए 20-25 दिनों के अन्तराल में खरपतवार निकालते रहना चाहिए।